सोशल साइट समाज के जागरूकता का काम | सोशल साइट ने उपलब्ध कराया जनता को नया मुकाम ||

Breaking

Saturday, August 17, 2019

डेगाना मे पिछले 36 घंटें मे बरसा 14 इंच पानी। शहर मे कई दुकानों, मकानों मे भरा पानी,सडकें बनी दरियां।

डेगाना मे पिछले 36 घंटें मे बरसा 14 इंच पानी।
शहर मे कई दुकानों, मकानों मे भरा पानी,सडकें बनी दरियां।
(रिपोर्टर-अशोक गुर्जर डेगाना)
डेगाना-










डेगाना शहर मे पिछले 36 घंटों  से हो रही भारी बरसात के कारण शहर मे कई बस्तियों मे बरसाती पानी भर जाने से लोगो को भारी परेशानी का सामना करना पड रहा है। शुक्रवार और शनिवार की रात से हो रही मूसलधार  बारिश से डेगाना सदर बाजार की सडकों ने पानी के उफनते नाले का रूप ले लिया। जिसमे सदर बाजार की कई दुकानों मे भी बरसाती पानी घुस जाने से दुकानों मे रखा कीमती  सामान खराब हो गया। तो रेलवे स्टेशन के सामने रंग धर्मशाला की दुकानों के नीवों मे पानी जाने से दुकानों के गिरने का खतरा उत्पन्न हो गया। जिस पर दुकानदारों ने  शनिवार की सुबह हाथों हाथ अपनी अपनी दुकानें खाली की। इसी प्रकार से  वार्ड संख्या तीन, 9,19,16,15,7 व वार्ड संख्या 8 के कई घरों मे पानी घुस गया। बरसात का पानी डेगाना के न्यायालय भवन मे भी 3 से 4 इंची पानी घुस गया। गनीमत ये रही  की शनिवार होने से न्यायालय खुला था और कार्मिकों ने कार्यालय की फाईलों को भीगने से बचा लिया। इसी प्रकार से बरसाती पानी  उपखण्ड अधिकारी रिछपाल बुरडक ओर न्यायिक अधिकारी दीप्ति श्रीवास्तव के आवासों मे भी एक एक फीट  तक भर गया। जिस कारण अधिकारियों को पुरी रात जागकर निकालने पर मजबूर होना पड़ा। बरसाती पानी अस्पताल सहित पंचायत समिति और कई घरों एंव सडकों पर फेल गया।   उपखण्ड अधिकारी रिछपाल बुरडक ने जानकारी देकर बताया की पिछले दो दिनों मे डेगाना मे रिकार्ड तोड़ बारिश हुई। जिसमे शुक्रवार को 70 एमएम और पिछले 24 घंटे मे कुल मिलाकर 280 एमएम बारिश रिकार्ड की गई। उनके अनुसार शहर मे दो दिनों मे 14 इंच बारिश रिकार्ड की गई।
लोगो ने बताया की शहर मे बरसाती पानी से बिगडे हालातों के लिए स्थानीय पालिका प्रशासन जिम्मेवार है। जिन्होंने समय रहते बरसाती पानी की निकासी को लेकर पुख्ता कदम नही उठाने के कारण लोगो को भारी परेशानी का सामना करना पडा। जिसमे पिछले दो सालों से पानी की निकासी सुििनश्चित करने को लेकर सरकार ने 6 करोड़ से भी अधिक की राशि स्वीकार की थी। लेकिन पालिका द्वारा नाले निर्माण का शिान्यास करने के बाद भूल गये। इसी प्रकार से सदर बाजार से लेकर नागोर फाटक तक सीसी सडक को बिना लेवल लिए घरों व दुकानों के के लेवल से ऊंचा कर दिये जाने से बरसाती पानी के निकासी का मार्ग अवरूद्व हो गया। और कई बस्तियों मे भारी मात्रा मे जल जमाव हो जाने से लोगो को परेशानी उठानी पड़ी।
 शहर मे कई मकानों की चारदिवारी  गिरने के समाचार है लेकिन कोई बड़ा हादसा इस बरसात से नही हुआ। उपखण्ड अधिकारी ने बताया की शनिवार को डेगाना उपखण्ड क्षैत्र में अच्छी बरसात होने के समाचार है। जिससे क्षैत्र के सभी तालाब लबालब हो गये।
 18 घटें से अन्घेरे मे डूबा रहा शहर।
 शहर मे पिछले दो दिनों से हो रही भारी बरसात के कारण बिजली की सप्लाई भी बुरी तरह से प्रभावित हो गई। और शनिवार को रात्री 4 बजे से गुल हुई बिजली सांय 7 बजे तक वापस बहाल नही हुई।  एईएन ने बताया की बरसात के कारण शहरी क्षैत्र मे कई जगहों पर बिजली के पोल गिर जाने तथा डीपी आदी के पानी ूू डूब जाने से बिजली की सप्लाई काट दी गई।  बरसात मे बिजली से कोई हादसा नही हो इसके लिए सुरक्षा बरती जा रही है। जैसे ही पुरी लाईनों की जांच हो जायेगी उसके बाद सप्लाई बहाल कर दी जायेगी।
न्यायिक मजिस्टे्रट के आवास मे घुसा पानी।
शनिवार की रात से हो रही बरसात के कारण न्यायिक मजिस्टे्रट दीप्ति श्रीवास्तव और उपखण्ड अधिकारी रिछपाल बुरडक के आवासों और न्यायालय भवन मे भी बरसात का पानी घुस गया। जिससे दोनों अधिकारियों को रात भर जागकर बितानी पड़ी। एसडीएम रिछपाल बुरडक ने बताया की पिछले दो दिनों मे डेगाना मे बरसात ने 40 सालों का  रिकार्ड्र तोड़ दिया। और दो दिन मे 350 एमएम बरसात रिकार्ड की गई।
 उपखण्ड अधिकरी ने क्षैत्र को दौरा किया।
 डेगाना उपखण्ड क्षैत्र मे हुई भारी बरसात के समाचारों के बाद उपखण्ड अधिकारी रिछपाल बुरडक ने सुबह 6 बजें से ही क्षैत्र मे बरसात का जायजा लेने के लिए निकल पडे। उन्होंने तिलानेस, ईड़वा, पालियास, पालड़ी, बवंरला, सिरासना, चकढ़ाणी सहित अनेकों गंाव ढाणियों का दौरा कर बरसात का जायजा लिया। उन्होंने बताया की तिलानेस मे मकान की एक दिवार गिरने से उसके नीचे दब कर दो बकरियों की मौत हो गई। इसके अलावा  क ही भी कोई हादसा होने के समाचार नही है। जबकि कई गंावों मे जल भराव होने के कारण पानी की निकासी की व्यवस्था की गई। 

No comments:

Post a Comment

Pages