सोशल साइट समाज के जागरूकता का काम | सोशल साइट ने उपलब्ध कराया जनता को नया मुकाम ||

Breaking

Monday, February 18, 2019

प्रशिक्षण मनरेगा योजना मे मेट महत्वपूर्ण कड़ी।

केन्द्र सरकार की मनरेगा योजना एक महत्वकांक्षी योजना है । जिसके माध्यम से ग्रामीणो व  बेरोजगारों को गंाव मे ही रोजगार मुहैया कराया जाता है।  इससे लोगो को रोजगार के साथ गंाव मे विकास के कार्य भी कराये जाते है जिसका लाभ सभी लोगो को मिलता है। इसमे मेट की भूमिका महत्वपूर्ण होती है। डेगाना के पंचायत समिति के मुख्य सभागार मे सोमवार को आयोजित मेट प्रशिक्षण शिविर के प्रथम दिन विकास अधिकारी शिवदान सिंह ने यह बात कही।  उन्होने कहा की मेट पुरी ईमानदारी के साथ काम करे तथा मजदूरों से टास्क के हिसाब से काम पर लगावें। और फर्जीवाडा नही करें। ऐसा करते पकडे जाने पर उक्त मेट को ब्लेक लिस्ट कर दिया जायेगा। उन्होंने कहा की अच्छा कार्य करने वाले मेट को समिति द्वारा सम्मानित किया जायेगा।  इस अवसर पर एईएन महावीर बांगडा ने मेटों को तकनीकी प्रशिक्षण दिया। जिसके तहत मनरेगा कार्य पर नाप जोख करना, पांच मजदूरों के ग्रुप मे काम का आंवटन करना। मजदूरों की हाजरी लगाना, कार्य स्थल पर छाया पानी की व्यवस्था करना, मस्टररोल भरना आदी के बारें मे बताया। बागडा ने बताया की 15 दिनों के पखवाडे मे रोस्टर के अनुसार मजदूरों को काम देना है। जिससे उनके 100 दिन पुरे हो सके। तथा टास्क का पुरा कार्य कराने का प्रयास मेट को करना होगा जिससे मजदूर को पुरी मजदूरी मिल सके। सोमवार को डेगाना पंचायत समिति की 21 ग्राम पंचायतों से आये मेटों को प्रशिक्षण दिया।
◆कल इनकों दिया जायेगा:= ◆
कल मंगलवार को बंवरला, बुटाटी, चौलियास, खैरवा, खुड़ीकला, निम्बड़ी चांदावता, पूनास, राजोद, सिरासना, गोनरडा, मांडल जौधा, मेवड़ा, नथावड़ा, निम्बड़ी कला, पालडी कला, पुन्दलोता, हरसोर, राजलोता, थाटा और बिखरणिया कला ग्राम पंचायतों के मेटों को प्रशिक्षण दिया जायेगा। इसमे भाग लेने वाले पुरूष मेट का दसवीं एंव महिला मेट का आठवीं पास होना जरूरी है। प्रत्येक ग्राम पंचायत से पांच पांच मेट को प्रशिक्षण दिया जायेगा।
◆100 दिन काम करने पर यह होगा लाभ:= ◆
प्रशिक्षण के दौरान विकास अधिकारी शिवदान सिंह और एईएन महावीर बांगडा ने नव प्रशिक्षित मेटों को अनेक प्रकार की जानकारी दी। जिसमे बताया की मजदूर द्वारा मनरेगा पर सौ दिवस का कार्य पुरा करने पर उसे खाद्य सुरक्षा योजना का लाभ मिलता है। जिससे उसके परिवार को उचित मूल्य की दूकान से मात्र दो रूपयों किलों के हिसाब गेंहू मिलते है। इसके अलावा सौ दिवस पुर करने पर उस मजदूर को श्र्रमिक कार्ड बनाया जा सकता है। जिससे उसे अनेक सरकारी योजनाओं का लाभ स्वत: मिलना शुरू हो जाता है। सौ दिवस पुरा करने वाले मजदूर को स्वास्थ्स बीमा, उसके बच्चों को निशुल्क शिक्षा सहित कई योजनाओं से जुडने से परिवारिक स्थिति मे सुधार लाया जा सकता है। इसलिए इस महत्वपूर्ण योजना का गरीबों एंव मजदूरों को पुरा लाभ देने मे मेट का महत्वपूर्ण कार्य होता है।

No comments:

Post a Comment

Pages