सोशल साइट समाज के जागरूकता का काम | सोशल साइट ने उपलब्ध कराया जनता को नया मुकाम ||

Breaking

Tuesday, February 26, 2019

Air Strike के बाद बौखलाया पाक, गांवों को ढाल बनाकर दाग रहा है मोर्टार और मिसाइल, भारतीय सेना के 5 जवान घायल, जवाबी कार्रवाई में 5 चौकियां ध्वस्त

जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu-Kashmir) के पुलवामा (Pulwama) में सीआरपीएफ (CRPF) के जवानों पर पाकिस्‍तान (Pakistan) समर्थित जैश-ए-मोहम्‍मद (Jaish-e-Mohammed) द्वारा किए गए आतंकी हमले से नाराज भारत ने 26 फरवरी को सुबह तड़के आतंकवादियों को मुंहतोड़ जवाब दिया है। भारतीय वायुसेना ने सुबह साढ़े 3 बजे 12 मिराज 2000 भारतीय लड़ाकू जेट विमानों ने एलओसी के पार जाकर आतंकवादी कैंपों पर निशाना बनाया। इसे पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया है बताया जा रहा है कि इस हमले में 350 से ज्यादा आंतकियों को जानें गई हैं। इससे तिलमिलाए पाकिस्तान ने मंगलवार शाम से ही एलओसी पर जबरदस्त फायरिंग शुरू कर दी है। पाकिस्तान एलओसी पर 12 से 15 जगहों पर हैवी कार्बाइन हथियार से फायरिंग कर रहा है। वही पाकिस्तानी गोलाबारी का करारा जवाब देते हुए भारतीय सेना ने जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा के उस पार स्थित पाकिस्तान की पांच चौकियां ध्वस्त कर दी। इस कार्रवाई में कई पाकिस्तानी सैनिक ‘हताहत' हुए हैं। एक रक्षा अधिकारी ने यह जानकारी दी। रक्षा पीआरओ ने कहा, ‘भारतीय सेना ने जवाबी कार्रवाई की और हमारी लक्षित गोलीबारी में पांच चौकियों को गंभीर नुकसान पहुंचा और (राजौरी और पुंछ जिलों में नियंत्रण रेखा से लगे क्षेत्र में) पाकिस्तानी सेना के कई जवान हताहत हुए।' पाकिस्तानी सैनिकों को ग्रामीणों को मानव ढाल के तौर पर इस्तेमाल करते हुए और आम नागरिकों के घरों से मोर्टार और मिसाइलें दागते हुए भी देखा गया। हालांकि भारतीय सेना ग्रामीण इलाकों से दूर पाक सेना को निशाना बना रही है। इस गोलाबारी में भारतीय सेना के भी 10 जवाब घायल हुए हैं। हालांकि कोई भी जवान गंभीर रूप से जख्मी नहीं है। उन्हें मामूली चोटें आई हैं।बता दे, पाकिस्तान के बालकोट पर मंगलवार सुबह 3:30 बजे एयर स्ट्राइक के बाद शाम को पाकिस्तान ने LoC पर जबरदस्त फायरिंग शुरू कर दी है। आर्मी के सूत्रों के मुताबिक, 26 फरवरी की शाम से पाकिस्तानी सैनिकों ने जम्मू-कश्मीर में LoC पर 50 जगहों पर बमबारी की थी। यूं तो पिछले तीन दिनों से लगातार पाकिस्तानी सेना बॉर्डर पर गोलीबारी कर रही है लेकिन मंगलवार शाम यह काफी बढ़ गई थी। भारतीय सेना का कहना है कि वह इसका मुंहतोड़ जवाब देंगे। भारतीय वायुसेना से जुड़े सूत्रों ने बताया कि वायुसेना के विमानों ने बीती रात नियंत्रण रेखा के पार जैश के आतंकी कैंप पर करीब 1000 किलोग्राम के बम बरसाए। बता दें कि 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे, जिसकी जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी।
विदेश सचिव विजय के.गोखले ने मीडिया से कहा, 'आज(मंगलवार) तड़के खुफिया अभियान में बालाकोट में जेईएम के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर पर भारत ने हवाई हमला किया। इस अभियान में जैश के बड़ी संख्या में आतंकवादियों, प्रशिक्षकों, वरिष्ठ कमांडरों व जिहादियों के समूह को मार गिराया गया। इन्हें फिदायीन हमले के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा था।'

बता दें कि 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे, जिसकी जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी।

आपको बता दें एयरफोर्स की कार्रवाई में मिराज (Mirage 2000) के अलावा डीआरडीओ के बनाये गये मिनी अवाक्स भी शामिल थे, जो करीब 200 किलोमीटर दूर तक हर हरकत पर नज़र रख सकते हैं। साथ में हवा में ईंधन भरने वाला एयर टू एयर रीफ्यूल भी था। करगिल युद्ध के समय भी मिराज ने बिना एलओसी क्रॉस किए पाकिस्तानी में मौजूद आतंकी कैंपों को तबाह किया था। गौरतलब है कि कारगिल जंग के दौरान जो मिग -21 के कमांडिंग ऑफिसर थे वो आज वायुसेना के प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी एस धनोवा है। उन्होंने भी उस वक़्त मिग -21 से पाक घुसपैठियों को निशाना बनाया था।

No comments:

Post a Comment

Pages